सोलर आटा चक्की योजना 2023: केंद्र सरकार निःशुल्क दें रहीं सोलर आटा चक्की, ऐसे करें आनलाइन आवेदन 

Free Solar atta chakki: मशीनों के इस्तेमाल होने से कई सारे पारंपरिक व्यवसाय समाप्त होते जा रहे हैं। लेकिन अभी भी कुछ ऐसे व्यवसाय हैं जिनके अंदर निवेश करने परकाफी ज्यादा लाभ होता है। इन्हीं में से एक आटा चक्की व्यवसाय भी है। चक्की की सहायता से न केवल अनाज को पीसकर आटा निकाल जाता है, बल्कि तेल निकालने के लिए भी इनका इस्तेमाल कोहलू के तौर पर भी किया जाता है। हालांकि बाजार में Packed aata भी उपलब्ध है लेकिन अभी भी ऐसे बहुत सारे लोग हैं जो चक्की पर पिसा हुआ आता ही खाना पसंद करते हैं। लेकिन आज के इस दौर में, बिजली के बढ़ते दाम और डीजल के बढ़ते दाम के कारण अक्सर लोग चक्की का व्यवसाय शुरू करने से कतराते हैं। ऐसे में हम आपको एक ऐसी योजना के बारे में बता रहे हैं जिसमें सरकार Free Solar atta chakki लगाने के लिए सहायता प्रदान कर रही है। 

Free Solar atta chakki Yojana

सूर्य की ऊर्जा से बिजली बनाने के लिए solar panel लगाए जाते हैं। इसके बाद आप मुफ्त में बिजली का उत्पादन कर सकते हैं और आपको बिजली का उपयोग करने के लिए किसी प्रकार का भुगतान करने की आवश्यकता नहीं है। आधुनिक समय में चक्की को चलाने के लिए बिजली की आवश्यकता पड़ती है। हालांकि ऐसी चक्की भी उपलब्ध है जो डीजल की सहायता से भी चलती है। लेकिन दोनों ही प्रकार की चक्की के लिए हर महीने एक बड़ी रकम बिजली के बल और डीजल की कीमत में खर्च हो जाती है। जिससे आटा चक्की लगाने वालों को इतना मुनाफा नहीं हो पा रहा है।

लेकिन हाल ही में एक ऐसी योजना का पालन किया जा रहा है जिसमें आटा चक्की की सेवा प्रदान करने वाले लोग चक्की चलाने के लिए सौर ऊर्जा का उपयोग कर रहे हैं। ऐसा करके बिना किसी निवेश से इन आटा चक्की संचालकों को बहुत मुनाफा हो रहा है।

सोलर पैनल लगाने में खर्चा 

आपको बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री कुसुम योजना के अंतर्गत नागरिकों को सोलर पैनल लगाने पर सब्सिडी दी जा रही है। इस प्रकार आप अपने घर अथवा चक्की के पास सोलर पैनल लगवा कर इस योजना का लाभ ले सकते हैं। यदि आप 10 HP की शक्ति वाली आटे की चक्की लगते हैं तो आपको इसको चलाने के लिए लगभग 15 KW का सोलर पैनल लगवाना होगा। जिसकी कीमत बाजार में ₹700000 से 12 लख रुपए के बीच है। आपको बता दें कि इसके अंतर्गत न केवल सोलर पैनल लगाया जाएगा बल्कि उसे तैयार बिजली को store करने के लिए इनवर्टर, तथा सोलर पैनल लगाने के लिए सभी आवश्यक उपकरण इसके अंतर्गत शामिल है।

एक बार पैसा खर्च करने के बाद लगभग 10 से 15 साल तक यह आसानी से अपनी सेवाएं देते हैं। इसके बाद भी इसमें मामूली मरम्मत करवाने के बाद यह दोबारा से काम करने लग जाते हैं। सरकार द्वारा दिए जाने वाली सब्सिडी की बात की जाए तो 30% सब्सिडी केंद्र सरकार द्वारा दी जाती है जबकि राज्य सरकार द्वारा भी सब्सिडी दी जा रही है. इसके अतिरिक्त पहाड़ी क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों को ज्यादा सब्सिडी मिल रही है। इतना ही नहीं आप बैंक से भी PM KUSUM Loan के लिए आवेदन कर सकते हैं जहां से आपको solar panel loan प्राप्त हो जाएगा। 

Free Solar atta chakki चक्की के लाभ 

यदि मुनाफे की बात की जाए तो, इसमें कोई शक नहीं है कि यदि आप चक्की का संचालन बिजली या डीजल से करते हैं तो आपको हर महीने बड़ी रकम मेंटेनेंस पर खर्च करनी पड़ती है। लेकिन वही यदि आप सरकारी सहायता पर सोलर पैनल लगा ले और इसके बाद चक्की संचालित करें, तो आपको कोई भी शुल्क अदा करने की आवश्यकता नहीं है। इसके साथ ही आपको यह भी याद रखना चाहिए कि केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा अपने नागरिकों को Ration Card के माध्यम से गेहूं प्रदान किया जाता है, जिसे पिसवाने के लिए आटे की चक्की होना आवश्यक है। 

इसके साथ ही ऐसे बहुत सारे ग्राहक हैं जो अपनी आवश्यकता के अनुसार बहुत सारे अलग-अलग अनाज आते में पिसवा कर खाना पसंद करते हैं। इनके लिए भी अपने घर के पास एक चक्की का होना आवश्यक है। इस प्रकार आप यदि पहले से ही चक्की की सुविधा उपलब्ध करा रहे हैं तो आपके लिए सोलर पेनल पैसे बचाने में काफी सहायता करेंगे जिससे निश्चित रूप से आपको मुनाफा ज्यादा हो जाएगा, और आप साथ में तेल कोल्हू की सुविधा भी शुरू कर सकते हैं।