Wheat MSP 2024 : गेहूं के समर्थन मूल्य में 7 प्रतिशत बढ़ोतरी, अब किसानों को इतना मिलेगा बोनस 

MSP wheat price | गेहूं की खेती करने वाले किसानों को इस वर्ष गेहूं का समर्थन मूल्य क्या मिलेगा यह जानने की बड़ी उत्सुकता है क्योंकि केंद्र सरकार ने 2023 में ही गेहूं के समर्थन मूल्य 7% बढ़ा दिए थे लेकिन इसी दौरान एमपी राजस्थान छत्तीसगढ़ सहित पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के समय गेहूं के गेहूं का समर्थन 2700 रुपए प्रति क्विंटल एवं धान का समर्थन मूल्य 3100 रुपए प्रति क्विंटल किए जाने की घोषणा की थी। Rसरकार द्वारा इस घोषणा के पश्चात किसानों को अब इसके आदेश होने का बेसब्री से इंतजार है। क्या सरकार अभी समर्थन मूल्य MSP wheat price  बढ़ाने वाली है या नहीं एवं चुनाव की घोषणा के अनुरूप क्या किसानों को 2700 रुपए प्रति क्विंटल का समर्थन मूल्य भाव मिलेगा या नहीं आइए चौपाल समाचार की इस खबर में सब कुछ जानते हैं..

पिछले वर्ष से 7% बढ़ा समर्थन मूल्य

फरवरी मार्च 2024 से रबी फसलों MSP wheat price की कटाई का काम शुरू होगा। गेहूं की कटाई के पहले ही गेहूं के समर्थन मूल्य को लेकर चर्चा तेज हो गई है। गेहूं का समर्थन मूल्य पिछले वर्ष 2125 रुपए प्रति क्विंटल था। यह समर्थन मूल्य 2023 में ही 7% बढ़कर 2275 रुपए प्रति क्विंटल कर दिया गया है अर्थात 2024- 25 के लिए गेहूं का समर्थन मूल्य केंद्र सरकार द्वारा 2275 रुपए प्रति क्विंटल तय किया गया है। MSP wheat price एमपी, राजस्थान, छत्तीसगढ़ सहित पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने चुनावी घोषणा पत्र में गेहूं का समर्थन मूल्य 2700 रुपए प्रति क्विंटल किए जाने की घोषणा की थी। हालांकि इसका अधिकृत आदेश नहीं हुआ है यदि आदेश होता है तो ऐसी स्थिति में गेहूं का समर्थन मूल्य 2700 रुपए प्रति क्विंटल रहेगा।

425 रुपए बोनस दिए जाने की भी तैयारी

इसी वर्ष अप्रैल या मई माह में लोकसभा चुनाव प्रस्तावित है। किसी को देखते हुए सरकार इसी को देखते हुए केंद्र सरकार के साथ-साथ MSP wheat price गेहूं उत्पादक राज्यों की राज्य सरकारें किसानों को अधिक से अधिक लाभ देने की तैयारी करने लगी है। बताया जा रहा है कि केंद्र सरकार तत्काल गेहूं का समर्थन मूल्य नहीं बढ़ाएगी। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार इसके अनुसार इसके स्थान पर 425 रुपए प्रति क्विंटल का बोनस देकर गेहूं का गेहूं किसानों से MSP wheat price गेहूं समर्थन मूल्य 2275 एवं बोनस के रूप में 425 रुपए देकर 2700 रुपए प्रति क्विंटल में खरीदेगी। प्रशासनिक सूत्रों के अनुसार इस संबंध में मार्च माह के पहले सप्ताह में बड़ी घोषणा हो सकती है

समर्थन मूल्य पर जल्दी खरीदी शुरू होगी

केंद्र सरकार ने MSP wheat price समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए 4 लाख मीट्रिक टन का लक्ष्य रखा है। पिछले वर्ष डायलॉग लक्ष्य के विपरीत 2 लाख 90 हजार मिट्रिक टन गेंह की खरीदी की थी। केंद्रीय पूल में गेहूं का स्टाक पिछले महीने से 26.8 लाख टन कम होकर 191.96 लाख टन रह गया है।

यह स्टाक पिछले वर्ष दिसंबर 2022 से 1.7 लाख टन अधिक परन्तु दिसंबर 2021 से 86.5 लाख टन कम है। एफसीआइ द्वारा पिछले कई महीनों से प्रति माह 20-25 लाख टन गेहूं स्टाक से ओएमएसएस स्कीम व सरकारी योजनाओं में वितरित हो रहा है। MSP wheat price गेहूं का बफर स्टॉक कम रहने के कारण केंद्र सरकार इस वर्ष गेहूं की खरीदी मार्च माह में ही शुरू करेगी यूपी में इसके लिए 15 मार्च की तारीख निर्धारित कर दी गई है अन्य राज्यों में भी जल्द ही न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी की तारीखों का ऐलान हो जाएगा।

बायोमेट्रिक सत्यापन से पंजीयन

गेहूं खरीदी MSP wheat price की प्रक्रिया को पारदर्शी बनाने के लिए सरकार ने कई व्यवस्थाएं की है। किसानों का ही पंजीयन हो सके, इसके लिए सरकार ने आधार नंबर आधारित बायोमेट्रिक/ओटीपी सत्यापन के आधार पर पंजीयन की व्यवस्था की है। इसी के तहत बायोमेट्रिक सत्यापन से पंजीयन किया गया। इसके तहत ऐसे शारीरिक रूप से अक्षम बुजुर्ग किसान, जिनके पास आधार नंबर नहीं था, उन्हें नॉमिनी के माध्यम से पंजीयन की सुविधा उपलब्ध कराई गई थी। किसान गेहूं साफ करके लाते हैं तो छन्ना नहीं लगाया जाएगा और उनसे किसी प्रकार का कोई शुल्क भी नहीं लिया जाएगा।

प्राप्त जानकारी के अनुसार खरीदी MSP wheat price में कोई गड़बड़ी न हो, इसके लिए बायोमेट्रिक सत्यापन की व्यवस्था भी है। किसान को भुगतान बायोमेट्रिक सत्यापन के बाद ही होगा। समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने के लिए किसान जनवरी-फरवरी में पंजीयन कराएंगे। अधिकारियों के अनुसार गेहूं बेचने के 48 घंटे के अन्दर गेहूं का समर्थन मूल्य खाते में भेज दिया जाएगा। पिछले वर्ष इसका समय 7 दिन निर्धारित था।

मंडियों में गेहूं के भाव क्या रहेंगे

MSP wheat price गेहूं के भाव 2024 में औसत रूप से बढ़ेंगे। व्यापार विशेषज्ञ अनुमान जताते हैं कि गेहूं के भाव 2500 रुपए से लगाकर 3000 रुपए प्रति क्विंटल के बीच में रहेंगे।

किसानों को केवाईसी करवाना अनिवार्य

सभी कृषकों को समर्थन मूल्य पर MSP wheat price गेहूं बेचने के लिए खसरों को समग्र और आधार से लिंक करना आवश्यक है, लिंक न होने की स्तिथि में गेहू आदि का पंजीयन नहीं हो पाएगा। यह केवाईसी करने के लिए किसानों को यह दस्तावेज अनिवार्य रूप से लगेंगे :–

आधार कार्ड

समग्र आईडी

जमीन की किताब

पैन कार्ड या वोटर आईडी दोनो में से एक कुछ सभी किसान भाईयों को समग्र आइडी से भुमि की ई केवाईसी करवाना अनिवार्य है।

इस वर्ष किसानों को यह सुविधा भी मिलेगी

MSP wheat price गेहूं बेचने के लिए रजिस्ट्रेशन कराने वाले किसान गेहूं बेचने के समय अगर क्रय केन्द्र पर नहीं जा सकते हैं तो इसके लिए वह रजिस्ट्रेशन के समय अपने परिवार के किसी सदस्य का नाम दर्ज करा सकते हैं। गेहूं बेचने के लिए नामिनी में दर्ज व्यक्ति जाकर अपना अंगूठा लगाकर गेहूं बेच सकता है। इसलिए इस वर्ष किसानों को रजिस्ट्रेशन के साथ-साथ रजिस्ट्रेशन में नॉमिनी दर्ज करवाना होगा।