MSP 2023: समर्थन मूल्य 2023 पर सरसों,चना और मसूर को बेचने के लिए पंजीयन शुरू, देखें पंजीयन प्रक्रिया

न्यूनतम समर्थन मूल्य 2023: न्यूनतम समर्थन मूल्य 2023 के तहत मध्य प्रदेश सरकार द्वारा अब चना, मसूर और सरसों की पंजीयन प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। मध्य प्रदेश सरकार ने चना, सरसों और मशहूर को समर्थन मूल्य पर खरीदने की तैयारी पूरी कर ली है। जल्द ही देशभर के कई हिस्सों में रबी फसलों की कटाई का काम शुरू होने वाला है, जिसको देखते हुए राज्य सरकारों के द्वारा चना, मसूर एवं सरसों आदि का उपार्जन न्यूनतम समर्थन मूल्य MSP पर खरीदने की तैयारी शुरू कर दी गई है।इस कड़ी में मध्य प्रदेश सरकार (Registration process of crops in MP) ने राज्य में चना, मसूर एवं सरसों खरीदी के लिए किसान पंजीयन शुरू कर दिए हैं।

25 फरवरी तक चलेगी पंजीयन प्रकिया

Minimum support price registration 2023: इस वर्ष मध्य प्रदेश सरकार चने की समर्थन मूल्य (Registration process of crops in MP) पर खरीदी सभी जिलों में, मसूर की 37 जिलों में एवं सरसों की खरीदी 39 जिलों में करेगी।मध्य प्रदेश में रबी वर्ष 2023 में चना, मसूर एवं सरसों के उपार्जन के लिये पंजीयन की कार्यवाही ई-उपार्जन पोर्टल पर की जा रही है, जो 25 फरवरी 2023 तक चलेगी। इस दौरान राज्य के किसान ऑनलाइन एवं ऑफ़लाइन आवेदन कर सकते हैं।

क्या है न्यूनतम समर्थन मूल्य

न्यूनतम समर्थन मूल्य 2023: (एमएसपी) का फुल फार्म ‘Minimum Support Price’ (मिनिमम सपोर्ट प्राइस) होता है, जबकि हिंदी भाषा में इसे ‘न्यूनतम समर्थन मूल्य’ कहते है।सरकार द्वारा एमएसपी की घोषणा फसलों की बुवाई से ठीक पहले की जाती है। इससे उस वर्ष फसल का उत्पादन अधिक या कम होनें पर किसानों को किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता है।एमएसपी के माध्यम से किसानों की फसलों की कीमत कम होने पर भी उनकी आय में कोई उतार-चढ़ाव नहीं आता है। दूसरे शब्दों में यदि किसानों (Registration process of crops in MP) को मंडियों में अपनी फसल के बेहतर दाम नहीं मिलते है, तो सरकार उस फसल को एमएसपी खरीदती है।मार्केट में फसलों की कीमत घटने ता बढ़ने पर प्रत्यक्ष रूप से इसका प्रभाव किसानों पर ना पड़े इसीलिए सरकार द्वारा किसानों की फसलों पर न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किया जाता है।

किसान फसलों का पंजीयन कहा से करवाए?

न्यूनतम समर्थन मूल्य 2023: किसान अपनी उपज बेचने के लिए पंजीयन ग्राम पंचायत कार्यालय स्थापित सुविधा केंद्र पर, जनपद पंचायत कार्यालय में स्थापित सुविधा केंद्र पर, तहसील कार्यालय में स्थापित सुविधा केंद्र (Registration process of crops in MP) पर एवं सहकारी समितियों एवं विपणन समितियों एवं संस्थाओं द्वारा संचालित पंजीयन केंद्र पर निःशुल्क करा सकते हैं।वहीं ऑनलाइन एमपी किसान एप पर एवं शुल्क देकर किसान भाई एमपी ऑनलाइन, कियोस्क, लोक सेवा केंद्र एवं साइबर कैफे से भी पंजीयन करा सकते हैं।

MSP पर 37 जिलों में की जाएगी मसूर की खरीदी

समर्थन मूल्य पर मसूर (Registration process of crops in MP) की खरीदी 37 जिलों राजगढ़, सतना, डिण्डोरी, विदिशा, सागर, रीवा, नरसिंहपुर, दतिया, रायसेन, पन्ना, दमोह, मण्डला, जबलपुर, शाजापुर, अनूपपुर, सिवनी, अशोक नगर, कटनी, मंदसौर, आगर, सीधी, सिंगरौली, सीहोर, छतरपुर, उमरिया, शिवपुरी, शहडोल, होशंगाबाद, भिण्ड, उज्जैन, छिंदवाड़ा, टीकमगढ़, रतलाम, बैतूल, नीमच, हरदा और धार में की जाएगी।

MSP पर 39 जिलों में की जाएगी सरसों की खरीदी

समर्थन मूल्य पर सरसों की खरीदी (Registration process of crops in MP) प्रदेश के 39 जिलों भिण्ड, मुरैना, शिवपुरी, मंदसौर, श्योपुरकलां, ग्वालियर, बालाघाट, टीकमगढ़, छतरपुर, नीमच, डिण्डोरी, मण्डला, दतिया, रीवा, सिंगरौली, आगर, गुना, पन्ना, रतलाम, सतना, अशोकनगर, शहडोल, विदिशा, राजगढ़, सिवनी, अनूपपुर, सीधी, जबलपुर, शाजापुर, कटनी, उज्जैन, उमरिया, रायसेन, सागर, होशंगाबाद, दमोह, छिंदवाड़ा, बैतूल और हरदा में की जाएगी।

पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज

किसानों को अनिवार्य रुप से समिति (Registration process of crops in MP) स्तर पर पंजीयन हेतु आधार नंबर, बैंक खाता नंबर, मोबाइल नंबर की जानकारी उपलब्ध करवाना होगा। किसानों पंजीयन करवाते समय कृषक का नाम, समग्र आईडी नम्बर, ऋण पुस्तिका, आधार नम्बर, बैंक खाता नम्बर, बैंक का आईएफएससी कोड, मोबाइल नम्बर की सही जानकारी दें ताकि बाद में किसी प्रकार की असुविधा न हो। वनाधिकार पट्टाधारी (Registration process of crops in MP) एवं सिकमी किसानों के पास पंजीयन के लिए वनपट्टा तथा सिकमी अनुबंध की प्रति होनी चाहिए।

मोबाइल से पंजीयन करने की पूरी प्रक्रिया

• किसानों को खुद पंजीयन (Registration process of crops in MP) के लिये उन्हे अपने मोबाइल में गूगल पर e उपार्जन की आधिकारिक वेबसाइट पद पर जाना होगा।
• वहां नीचे उन्हें दो विकल्प मिलेंगे- खरीफ और रबी।
• रबी के विकल्प में “रबी-2023-24” लिखा दिखेगा।
• उस पर क्लिक करने पर एक नई लिंक खुलेगी। उसमे दो ऑप्शन दिखेंगे।
• पहले ऑप्शन पर लिखा होगा- किसान पंजीयन/आवेदन सर्च।
• उस पर क्लिक करते ही नई लिंक खुलेगी, जिसमें खसरा नंबर, नाम, आधार नंबर, बैंक खाता संख्या आदि विकल्प दिखेंगे।
• इन सभी को भरकर किसान (Registration process of crops in MP) को सबमिट (नईउपज) बटन दबाना होगा।
• इसके बाद रजिस्टर्ड नंबर पर एक OTP आएगा।
• OTP दर्ज कर सबमिट करते ही किसान का रजिस्ट्रेशन हो जाएगा।

Source by – choupalsamachar.in