निशुल्क बोरवेल योजना 2023: इन तीन योजनाओं का लाभ उठाकर किसान फ्री में लगवाएं बोरवेल, ऐसे करें आवेदन 

खेत में अच्छी उपज के लिए जरूरी है कि किसानों के पास आधारभूत सिंचाई की सुविधा हो। बहुत सारे किसान जिनकी आय कम है, वह सिंचाई की सुविधा विकसित करने के लिए नलकूप करवाना तो चाहते हैं लेकिन कम आय और कम पूंजी की उपलब्धता की वजह से बोरिंग नहीं करवा पाते हैं। यही वजह है कि सरकार द्वारा छोटे और मध्यम वर्ग के किसानों के लिए बोरिंग करवाने पर अनुदान देने और आर्थिक सहायता दिए जाने का प्रावधान है। सिंचाई की सुविधा विकसित करने के क्रम में सरकार नलकूप तक बिजली की पहुंच भी स्थापित कर रही है ताकि किसान बहुत ही कम लागत में इलेक्ट्रिक पंप से खेत की सिंचाई कर पाएं और खेती में अच्छा मुनाफा कमा सकें। गौरतलब है कि सिंचाई की सस्ती सुविधा न होने पर किसानों को खेत में अच्छी उपज के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ती है। यही वजह है कि उनके लिए बोरिंग करवाना बहुत जरूरी हो जाता है। बोरिंग करवाने में अच्छी खासी लागत आती है, लेकिन अगर आप सरकार की इन बेहतरीन नलकूप योजनाओं के तहत आवेदन करते हैं और आप इन योजनाओं का लाभ पाने के लिए पात्र होते हैं तो बोरिंग करवाना बेहद सस्ता हो सकता है।

टॉप 3 नलकूप योजना

बोरिंग के लिए बेहतरीन टॉप योजनाओं में आवेदन करके आप आसानी से अपने खेत में बोरिंग का लाभ उठा सकते हैं। इन टॉप 3 बोरिंग योजना में आवेदन करके आप आसानी से कम लागत में खेतों में बोरिंग करवा सकते हैं। इनमें से कुछ योजनाओं पर 50% अनुदान का प्रावधान है जबकि कुछ योजना में पूरी तरह निःशुल्क बोरिंग का भी प्रावधान है।

1 . उथले / मध्यम गहरे / गहरे नलकूप योजना

उत्तरप्रदेश सरकार की यह महत्वपूर्ण सिंचाई योजनाओं में से एक है। यह सरकार की एक विभागीय फ्लैगशिप योजना है जिसके तहत व्यापक अनुदान देने का प्रावधान है।

उथले नलकूप योजना के तहत किसानों को बोरिंग पर 10000 रुपए देने का अनुदान है। साथ पंप सेट खरीद के लिए भी अधिकतम 9000 रुपए अनुदान देने का प्रावधान है। उथले नलकूप योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस लिंक https://scheme.jjmup.org/mi/index.php को ब्राउजर में ओपन करें।

मध्यम गहरे नलकूप योजना के तहत किसानों को अधिकतम 50% या 75000 रुपए का अनुदान देने का प्रावधान है। नलकूप के विद्युतीकरण के लिए सरकार 68 हजार रुपए अलग से देगी। इस योजना में आवेदन करने के लिए इस लिंक https://scheme.jjmup.org/mi/index.php को ब्राउजर में ओपन करें।

गहरे नलकूप योजना में किसानों को 50% यानी अधिकतम 1 लाख रुपए दिए जाने का प्रावधान है। नलकूप के विद्युतीकरण के लिए 68000 रुपए दिए जाने का प्रावधान है। इस योजना में ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस लिंक https://scheme.jjmup.org/mi/index.php को ब्राउजर में ओपन करें।

2. डॉ राम मनोहर लोहिया सामूहिक नलकूप योजना 

डॉ राम मनोहर लोहिया नलकूप योजना के तहत अधिकतम 5 लाख रुपए अनुदान देने का प्रावधान है। जो कि कुल लागत का 100% तक हो सकता है। हालांकि 100% अनुदान केवल एससी और एसटी वर्ग के किसानों को ही दिया जाएगा। सामान्य एवं ओबीसी श्रेणी के लघु एवं सीमांत किसानों को 75% अनुदान यानी अधिकतम 3.92 लाख रुपए का अनुदान देने का प्रावधान है। इस योजना का लाभ लेने के लिए आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस लिंक https://scheme.jjmup.org/mi/index.php को ब्राउजर में ओपन करें।

3. ब्लास्टकूप निर्माण योजना 

पहाड़ी एवं पठारी क्षेत्रों में नलकूप के निर्माण की लागत अधिक आती है और नलकूप निर्माण में काफी मुश्किलों का भी सामना करना पड़ता है। झांसी, महोबा, इलाहाबाद, सोनभद्र, चंदौली, ललितपुर, चित्रकूट, मिर्जापुर आदि इलाकों में किसान सामूहिक तौर पर ब्लास्टकूप का निर्माण कर सकते हैं। इसके लिए भी सरकार ने 50% अनुदान देने की व्यवस्था की है। ऑनलाइन आवेदन करने के लिए इस लिंक https://scheme.jjmup.org/mi/index.php को ब्राउजर में ओपन करें, अथवा अपने नजदीकी खंड विकास अधिकारी के समक्ष आवेदन प्रस्तुत करें।