मौसम समाचार मध्यप्रदेश: अभी बारिश रूकी नहीं,इस दिन से फिर होंगी भारी बारिश, देखें मौसम समाचार

Madhya Pradesh Weather : मध्य प्रदेश के लोगों को इस पूरे हफ्ते बारिश से निजात नहीं मिलने वाली है। मौसम विभाग का कहना है कि जल्द एक और सिस्टम एक्टिव होगा जिससे सूबे में फिर जोरदार बारिश शुरू होगी।

Madhya Pradesh Weather Update: मध्य प्रदेश को इस पूरे हफ्ते बारिश से निजात नहीं मिलने वाली है। मौसम विभाग ने 21 से 23 सितंबर तक सूबे के विभिन्न हिस्सों में मौसम खराब रहने की चेतावनी जारी की है। हालांकि मौसम विज्ञानियों ने अगले तीन दिन यानी 19 से 21 सितंबर तक मिलेजुले मौसम रहने का पूर्वानुमान जताया है। इसके बाद एक ताजा सिस्टम सक्रिय होगा जिस कारण 21 सितंबर से फिर सूबे के हिस्सों में जोरदार बारिश का दौर देखा जाएगा। मौसम विभाग ने सूबे से लगे प्रदेशों में भी जोरदार बारिश का अलर्ट जारी किया है।

IMD की ओर से जारी ऑल इंडिया वेदर बुलेटिन में कहा गया है कि उत्तर-पश्चिम और उससे सटे मध्य बंगाल की खाड़ी पर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन के प्रभाव के कारण पश्चिम बंगाल- ओडिशा तटों के पास उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी पर एक कम दबाव का क्षेत्र बन गया है। अगले 2 दिनों के दौरान इसके उत्तरी ओडिशा और दक्षिणी झारखंड की ओर बढ़ने की संभावना है। इसका प्रभाव से झारखंड और मध्य प्रदेश में जोरदार बारिश की परिस्थितियां बनती नजर आ रही हैं।

मौसम विभाग ने 19 से 22 तारीख के दौरान छत्तीसगढ़ में व्यापक रूप से हल्की से मध्यम बारिश की चेतावनी दी है। इस दौरान आंधी तूफान के साथ वज्रपात का भी अलर्ट है। मौसम विभाग ने इस दौरान कुछ जगहों पर भारी बारिश की भी चेतावनी जारी की है। यदि मध्य प्रदेश की बात करें तो 21 सितंबर से सूबे में एकबार फिर जोरदार बारिश का दौर शुरू होगा। पूर्वी मध्य प्रदेश 21 से 23 तारीख के दौरान जबकि 22 और 23 सितंबर को विदर्भ और पश्चिम मध्य प्रदेश में आंधी पानी का अलर्ट है।

मौसम विभाग का कहना है कि 21 सितंबर से एक तगड़ा सिस्टम एक्टिव होगा जिसकी वजह से प्रदेश भर में झमाझम बारिश होगी। 22 से 23 सितंबर के दौरान सूबे के कुछ हिस्सों में भारी बारिश भी हो सकती है। सूबे के ग्वालियर, चंबल, रीवा, इंदौर, भोपाल और उज्जैन संभाग के जिलों में भारी बारिश हो सकती है। मौसम विज्ञानियों का कहना है कि यह सिस्टम इतना तगड़ा होगा कि इसकी वजह से सूबे के उन रेड जोन में भी बारिश होगी जहां अब तक सामान्य से कम बारिश देखी गई है।