5 लाख तक की सब्सिडी, किसानों के लिए किसान ड्रोन पर सरकार देगी भारी छूट

Kisan Drone Yojana : किसानों के लिए किसान ड्रोन पर अधिकतम 5 लाख तक की सब्सिडी – भारत में किसानों को मशीन के प्रकार और लाभार्थी के प्रकार के आधार पर कृषि उपकरणों पर सब्सिडी मिलती है। इन दोनों पहलुओं को मिलाकर, किसान के लिए सब्सिडी विकल्प प्राप्त करने के लिए विभिन्न संयोजन उपलब्ध हैं। 

किसानों को सब्सिडी कृषि यंत्रीकरण उप-मिशन (एसएमएएम) के तहत प्रदान की जाती है। ड्रोन के लिए कृषि मशीनीकरण पर उप-मिशन (एसएमएएम) के तहत वित्तीय सहायता का पैटर्न नीचे दिया गया है। अधिक जानकारी के लिए सरकार की अधिकारिक वेबसाइट https://farmech.gov.in पर जायें। किसान ड्रोन सब्सिडी की जानकारी नीचे तालिका में दी गई है।

किसान ड्रोन योजना के बारे में जानकारी

योजना का नामKisan Drone Yojana
आरंभ की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा
लाभार्थीदेश के किसान
उद्देश्यकृषि ड्रोन खरीदने पर अनुदान प्रदान करना
साल2024

Kisan Drone Yojana के तहत दिया जाने वाले अनुदान

इस योजना के तहत कृषि कार्यों के लिए ड्रोन खरीदने पर अलग-अलग वर्ग एवं क्षेत्र के कृषकों को अलग-अलग अनुदान प्रदान किया जाएगा। जिसका विवरण निम्नलिखित इस प्रकार है।

संबंधित वर्ग एवं क्षेत्रअनुदान विवरण
एससी-एसटी, छोटे एवं सीमांत, महिलाओं और पूर्वोत्तर राज्यों के किसानों को50% या अधिकतम ₹500000
अन्य किसानों को40% या अधिकतम ₹400000
किसान उत्पादक संगठन (FPO) को75%
कृषि मशीनरीकरण पर उप मशीन के तहत मान्यता प्राप्त कृषि ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट या कृषि विज्ञान केंद्रों को100% यानी निशुल्क

किसान ड्रोन सब्सिडी

कृषि मशीनरी का प्रकार – किसान ड्रोनप्रति लाभार्थी अधिकतम अनुमेय सब्सिडी प्रति मशीन उपकरण (एससीएसटीछोटे और सीमांत किसानोंमहिलाओं के लिए)सहायता का पैटर्न (एससी एसटी लघु और सीमांत किसान महिलाओंऔर पूर्वोत्तर राज्य लाभार्थी के लिए)प्रति लाभार्थी अधिकतम अनुमेय सब्सिडी प्रति मशीन उपकरण (अन्य लाभार्थी के लिए)सहायता का पैटर्न (अन्य लाभार्थी के लिए)
किसान ड्रोन (लघु एवं मध्यम)रु. 5.00 लाख50%रु. 4.00 लाख40%

Kisan Drone Yojana के लाभ एवं विशेषताएं

  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा Kisan Drone Yojana को शुरू किया गया है।
  • इस योजना को ड्रोन के माध्यम से फसल मूल्यांकन, लैंड रिकॉर्ड के डिजिटलीकरण, कीटनाशकों व पोषक तत्वों के छिड़काव के लिए बढ़ावा  देने के लिए शुरू किया गया है।
  • इस योजना के तहत किसानों को कृषि कार्यों के लिए ड्रोन खरीदने पर अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • यह अनुदान एससी/एसटी, छोटे एवं सीमांत, महिलाओं एवं पूर्वोत्तर राज्यों के किसानों को 50% या अधिकतम 5 लाख रुपए तक प्रदान किया जाएगा।
  • देश के अन्य किसानों को 40% या अधिकतम ₹400000 तक का और FPO को 75% तक का अनुदान दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत कृषि मशीनरकरण पर उप मशीन के तहत मान्यता प्राप्त कृषि ट्रेनिंग इंस्टिट्यूट या कृषि विज्ञान केंद्रों को ड्रोन खरीदने पर 100% अनुदान दिया जाएगा। अर्थात उन्हें ड्रोन बिल्कुल निशुल्क उपलब्ध करवाए जाएंगे।
  • अब किसान के माध्यम से ड्रोन प्राप्त करके बड़े पैमाने पर फसल में कीट प्रबंधन कर सकेंगे। जिससे उनके समय और श्रम की बचत होगी।
  • ड्रोन योजना कृषि क्षेत्र में तकनीक को बढ़ावा देगी और अधिक से अधिक किसानों को ड्रोन का उपयोग करने के लिए आकर्षित करेगी।
  • ड्रोन के उपयोग से 1 एकड़ भूमि पर 7 से 10 मिनट में आसानी से कीटनाशक, दवाइयों व यूरिया का छिड़काव किया जा सकेगा।
  • राजस्थान और महाराष्ट्र के किसानों खेती के लिए ड्रोन का उपयोग करने लगे हैं। अनुमान है कि आने वाले समय में ड्रोन की उपयोगिता को देखते हुए लगभग देश के सभी राज्यों के किसान भी खेती कार्यों के लिए ड्रोन का उपयोग करने लगेंगे।