Sarso Rate Report: सरसों में अब जाकर लौट रही तेजी, सप्ताह में 300 रूपए का उछाल, देखें सरसों का भविष्य

सरसों में 150 रुपए की तेज़ी, सरसों भाव में यह हफ़्ता काफ़ी अछा चल रहा है, किसानों के चहरों पर हल्की मुस्कराहट जरुरी है, क्योंकी लगातार टूट रहे सरसों भाव पर अब ब्रेक लगा है। इस रिपोर्ट के माध्यम से सरसों के कब बढ़ेंगे भाव, सरसों तेजी मंदी रिपोर्ट | क्या रहेगा का सरसों का भविष्य sarso bhav को बारीकी से जानेंगे, पूरी जानकारी के लिए पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

सरसों में 150 रुपए की तेज़ी: Sarso bhav

किसान साथियों प्रतिदिन टूट रहे सरसों भाव पर अब रोक लगती हुई दिखाई दे रही है। पिछले साल 2022 इन दिनों सरसों भाव 6700 रूपया प्रति क्विंटल चल रहे थे। फिलहाल 2023 में सरसों भाव 4500 रूपया प्रति क्विंटल से 5400 पर अटके हुए हैं। लगातार गिरते दामों पर इस हफ़्ते रोक लगी है। कल शुक्रवार को 100 रूपया से 150 रूपया प्रति क्विंटल सरसों भाव में तेजी दर्ज हुई है।

मंडी रिपोर्ट सरसों भाव

कल शुक्रवार देस की कई प्रमुख मंडियों में 100 रुपए प्रति क्विंटल की तेजी दर्ज हुई है। जयपुर में कंडीशन सरसों भाव 5400 रूपया पर क्विंटल कारोबार किया । चरखी दादरी में तेजी दर्ज हुई, दिल्ली लॉरेंस पर 100 रूपया पर क्विंटल की तेजी आई और भाव बढ़कर 5200 रूपया पर क्विंटल कारोबार किया। राजस्थान की कृषि उपज मंडी भरतपुर मैं 100 रुपे की तेज़ी के साथ भाव 5125 रुपए पर क्विंटल पर कारोबार किया।तेलों मिलों पर 150 रूपया की जबरदस्त तेज़ी लौटी, आगरा बीपी प्लांट पर तेज़ी के साथ सरसों भाव 5600 पर क्विंटल भाव रहे, सलोनी प्लांट पर भी 150 रूपया पर क्विंटल की तेजी रही और भाव 5950 पर पहुंच गए, गोयल कोटा में सरसों भाव 5250 रुपए प्रति क्विंटल रहा ।

विदेशी बाजारों में लौट रही तेज़ी

दोस्तों, हमने पहले भी बताया है कि जैसे जैसे विदेशी बाजारों में हलचल होती है व तेजी के समीकरण बनते हैं तो भारतीय बाजार में भी तेजी लौट जाती है। बीएमडी डिलीवरी पाम ऑयल वायदा में 5.14 यानी 176 रिंगिट प्रति टन की तेजी दर्ज हुई। शिकागो में सोया ऑयल भाव 0.84 प्रतिशत तेज़ हो गए हैं। अगर इसी प्रकार से विदेशों में तेजी बढ़ेगी तो सरसों भाव में तेजी आना संभव है।

सरसों भविष्य रोके या बेचे

किसान साथियों सोमवार से लेकर इस हफ्ते शुक्रवार तक सरसों भाव में सुधार दिखाई दिया है और कहीं न कहीं बंदी पर ब्रेक लगते हुए दिखाई दे रहे हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि तेजी के फंडामेंटल कहीं से भी नहीं है लेकिन फिर भी सरसों के भाव में तेजी लौटी है। यह तेजी कितनी टिकाऊ है। इस बारे में कोई भी विचार नहीं रखा जा सकता क्योंकि जब तक कोई सरकारी फैसला या विदेशी व्यापार की बड़ी खबर निकल कर सामने नहीं आती है तब तक किसी भी प्रकार की भविष्यवाणी शायद उचित नहीं होगी। छोटे-मोटे उछाल पर माल निकाल सकते हैं।

  social whatsapp circle 512WhatsApp Group Join Now
2503px Google News icon.svgGoogle News  Join Now
Spread the love