किसान पशु क्रेडिट कार्ड 2024 : गाय पालने पर 40,000 रूपए और भैंस पर मिल रहें 60,000 रूपए, ऐसे उठाएं लाभ 

PM किसान पशु क्रेडिट योजना सरकार पशु पालन को प्रोतसाहन देने के लिए योजना संचालित कर रही है जिसमें गोपालकों को सुविधा और राशि प्रदान कर रही हैं | इससे गोपालन में किसी प्रकार की दिक्कत न हों । सरकार किसानो के लिए भी ऐसी योजना चला रही हे जिससे उन्हे फायदा मिले । ऐसे में योजना निकालने में इस राज्य सरकार भी पीछे भी नहीं है | बीते दिन सरकार ने गाय भैंस पालने वालों को लिए योजना शुरू की है।

जिसमें अगर आपके पास गाय है तो आपको मिलेंगे लगभग ₹40,000 और अगर आपके पास भैंस हैं तो आपको मिलेंगे ₹60,000 के आस- पास। पशुपालन व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए एक योजना लेकर आई है जिसका नाम है पशु किसान क्रेडिट योजना। केंद्र सरकार के द्वारा शुरू की गई योजनाओं में से है इस योजना के तहत किसानों और पशुपालकों को पशु पालन के लिए लोन उपलब्ध कराया जाता है और यह लोन क्रेडिट कार्ड के तर्ज पर कार्य करती है | जिस कारण से इस योजना का नाम pm kisan pashu Credit Card रखा गया है। आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग जैसे कि किसान या पशुपालक आवेदन कर सकते हैं

योजना के लिए पात्रता

आप अपने पशुओं के ऊपर लोन ले सकते हैं। लाभ लेने के लिए आपके पास पशु किसान क्रेडिट कार्ड होना चाहिए। आप हरियाणा राज्य के निवासी होनी चाहिए। मछली पालन, मुर्गी, भेड़ बकरी, गाय भैंस आदि रखने वाले किसानों को ही इस योजना में शामिल किया जा सकता है। पशु किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन प्रोसेस भी कर सकते हैं।

कितना लोन दिया जायेगा 

आप किसान हैं और आपके पास गाय गाय है। तो आपको सरकार लगभग ₹40,783 का लोन देती है। वहीं अगर भैंस पालन करने वालों के लिए तो ₹60,249 का लोन दिया जाता है। इस लोन को चुकाने के लिए आपको हर महीने किश्त देनी होगी। जैसे मान लो कि ₹40,000 का लोन आप उठाए हैं और आप 1 साल में झुकाते हैं तो आपको लगभग 3,333/- रुपए की हर महीने के भरनी पड़ेगी।

कितना देना होगा ब्याज

जो लोग योजना का लाभ लेगे उन्हें राशि पर ब्याज देना होगा। अगर आप 1 साल के भीतर इस लोन को पूरा चुका देते हो तो आपको सिर्फ 4 फीट जी व्यास जी देना पड़ेगा। वैसे आपको पता हो कि केसीसी पर 7 प्रतिशत का ब्याज लगता है। लेकिन आपको पशु पालन करने के लिए दिया जाता है जिसके जरिए आप को केवल 4 प्रतिशत से ब्याज दर ही देना पड़ता हैं।

किसान क्रेडिट कार्ड सभी राज्य में बनाया जा सकता है लेकिन यह किसान क्रेडिट कार्ड छत्तीसगढ़ में यह अभियान लीड बैंक सहित विभिन्न विभागों की सहायता से चलाया जा रहा है। कलेक्टर ने इस संबंध में बैंक सहायक, सरपंच, पंचायत सचिव, कृषि एवं राजस्व के मैदानी अमला स्वयं सहायता समूह को भागीदारी सुनिश्चित करने को कहा जा रहा है।