Wheat Stock: देश में गेहूं के स्टॉक में आई कमी, अब कैसे भरेगा गरीबों का पेट, देखें रिपोर्ट » Kisan Yojana » India's No.1 Agriculture Blog

Wheat Stock: देश में गेहूं के स्टॉक में आई कमी, अब कैसे भरेगा गरीबों का पेट, देखें रिपोर्ट

5/5 - (4 votes)

Wheat stock :-रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गेहूं की कीमत में काफी तेजी देखने को मिली थी।इस दौरान भारत में भी गेहूं की कीमत में भारी बढ़ोतरी देखी गई थी। इस कारण सरकार ने मई में गेहूं के निर्यात पर बैन लगा दिया था। अब सरकारी गोदामों में गेहूं का स्टॉक (Wheat stock) पिछले साल की तुलना में आधा रह गया है। लगातार सरकारी गोदामों में गेहूं का भंडारण कम होता जा रहा है। फिलहाल संभावना जताई जा रही है कि गेहूं के दामों में भारी बढ़ोतरी हो सकती है।

Wheat Stock: देश में गेहूं के स्टॉक में आई कमी, अब कैसे भरेगा गरीबों का पेट, देखें रिपोर्ट

Wheat Stock: सरकारी गोदामों में गेहूं का भंडार पहले की तुलना में आधा रह गया है। रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के अनुसार सरकारी गोदामों में इस महीने की शुरुआत में 2.1 करोड़ टन गेहूं का स्टॉक था यही पिछले साल एक नवंबर को 4.2 करोड़ टन था। हालांकि यह आधिकारिक लक्ष्य से थोड़ा ऊपर है। सरकार ने 31 दिसंबर को खत्म होने वाली तिमाही के लिए इसके 2.05 करोड़ टन रहने का लक्ष्य रखा था। एक अक्टूबर को सरकारी गोदामों में 2.27 करोड़ टन गेहूं था। सरकार ने बढ़ती कीमत पर लगाम लगाने के लिए गेहूं रिलीज किया था। इसी वजह से सरकारी भंडार में कमी आई है। सरकार समय-समय पर बल्क यूजर्स के लिए गेहूं का स्टॉक जारी करती रहती है। इनमें आटा मिल और बिस्कुट बनाने वाली कंपनियां शामिल हैं।

Kisan News:Kisan News: इस बार प्याज को संभाल कर रखे किसान, क्षैत्रफल घट गया और देखें पूरी रिपोर्ट

भारत में गेहूं का उत्पादन: भारत दुनिया में गेहूं का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है। मई में बढ़ती कीमत पर सरकार ने गेहूं के निर्यात पर रोक लगा दी थी। उसके बाद देश में गेहूं की कीमत में 27 फीसदी बढ़ोतरी हो चुकी है। जानकारों के अनुसार नई फसल के आने तक गेहूं की कीमत कम होने उम्मीद नहीं है। नई फसल मार्च-अप्रैल में आएगी। इस साल गेहूं की पैदावार में गिरावट आई थी। लेकिन अगले साल इसमें एक बार फिर तेजी की उम्मीद की जा रही है। देश में गेहूं की बुवाई अक्टूबर से शुरू हो चुकी है।

Kisan News: kisan news : बेस्ट क्वालिटी आलू की करे खेती और कमाए लाखो बहुत ही कम लागत में

Wheat stock in india: अगर मौसम अनुकूल रहा और गेहूं की कटाई तक तापमान में बेतहाशा बढ़ोतरी नहीं होती है तो देश में गेहूं का उत्पादन 2021 के स्तर तक पहुंच सकता है। 2021 में देश में 10.959 करोड़ टन गेहूं हुआ था। ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश का गेहूं का रकबा 45 लाख हेक्टेयर पहुंच चुका है जो पिछले साल के मुकाबले 9.7 फीसदी अधिक है। देश में गेहूं की कीमत गुरुवार को 26,500 रुपये टन के रेकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई थी। मई में गेहूं के निर्यात पर बैन लगने के बाद से इसमें 27 फीसदी तेजी आ चुकी है।

आज के मंदसौर मंडी भाव ( Mandsaur Mandi bhav today )

Kisan News: हालांकि सरकार का कहना है कि अभी चिंता की कोई बात नहीं है क्योंकि सरकार के पास अपने गोदामों में गेहूं और चावल दोनों का भरपूर भंडार है।भारतीय खाद्य निगम (FCI) के अध्यक्ष अशोक के मीणा ने हाल में कहा था कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम और अन्य कल्याणकारी आवश्यकताओं के लिए मुफ्त अनाज की आपूर्ति के बाद भी एक अप्रैल, 2023 तक गेहूं और चावल का अनुमानित स्टॉक सामान्य बफर मानदंडों से अधिक रहेगा।

आज के इंदौर मंडी भाव ( Indore Mandi Bhav Today )

 
social whatsapp circle 512WhatsApp Group
Join Now
2503px Google News icon.svgGoogle News  Join Now
Spread the love