न्यूनतम समर्थन मूल्य 2023: सभी फसलों और धान के समर्थन मूल्य, मूल्य में वृद्धि की सूची देखें » Kisan Yojana » India's No.1 Agriculture Blog

न्यूनतम समर्थन मूल्य 2023: सभी फसलों और धान के समर्थन मूल्य, मूल्य में वृद्धि की सूची देखें

3/5 - (10 votes)

Newnatam samarthan mulya 2023 list: केंद्र सरकार द्वारा खरीफ और रबी दोनों की सभी फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य 2023 घोषित कर दिए हैं। कैबिनेट बैठक में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) ने विपणन सीजन 2023 के लिए सभी अनिवार्य खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में वृद्धि को मंजूरी दे दी है।

MSP 2023: सरकार ने उत्पादकों को उनकी उपज के लिए लाभकारी मूल्य सुनिश्चित करने और फसल विविधीकरण को प्रोत्साहित करने के लिए विपणन सीजन 2023 के लिए खरीफ फसलों के एमएसपी (msp) में वृद्धि की है, जैसा कि नीचे दी गई तालिका में दिया गया है।

2023 का समर्थन मूल्य (₹ प्रति क्विंटल)

फसल का नामसमर्थन मूल्य 2021-22समर्थन मूल्य 2022-23MSP बढ़ा
धान (सामान्य)19402040100 रूपये
धान (ग्रेड ए)19602060100 रूपये
ज्वार ((हाईब्रीड)27382970232 रूपये
ज्वार (मालदंडी)27582990232 रूपये
बाजरे22502350100 रूपये
रागी33773578201 रूपये
मक्का1870196292 रूपये
तूर (अरहर)63006600300 रूपये
मूंग72757755480 रूपये
उड़द63006600300 रूपये
मूंगफली55505850300 रूपये
सूरजमुखी के बीज60156400385 रूपये
सोयाबीन (पीला)39504300350 रूपये
तिल73077830523 रूपये
रामतिल69307287357 रूपये
कपास (मध्यम रेशा)57266080354 रूपये
कपास (लंबा रेशा)60256380355 रूपये

Source : pib.gov.in

विपणन मौसम 2023 के लिए खरीफ फसलों की एमएसपी में बढ़ोत्तरी, वर्ष 2018-19 के केंद्रीय बजट में एमएसपी को अखिल भारतीय भारित औसत उत्पादन लागत (सीओपी) के ऊपर कम से कम 50 प्रतिशत लाभ निर्धारित करने की उद्दघोषणा के अनुरूप हैं, जो कि किसानों के लिए किफायती निष्पक्ष पारिश्रमिक के लिए लक्षित हैं। यह ध्यान देने योग्य है कि बाजरा, तूर, उडद, सूरजमुखी बीज, सोयाबीन एवं मूंगफली की एमएसपी पर लाभ अखिल भारतीय भारित औसत उत्पादन लागत से 50 प्रतिशत अधिक है, जो कि क्रमशः 85%, 60%, 59%, 56%, 53% एवं 51% है।

रबी फसलों के लिए 2023-24 का समर्थन मूल्य

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने विपणन सीजन 2023-24 के लिए सभी अनिवार्य रबी फसलों के लिए प्रति क्विंटल न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में वृद्धि को मंजूरी दे दी है।

सरकार ने रबी फसलों के विपणन सीजन 2023-24 के लिए एमएसपी में वृद्धि की है, ताकि उत्पादकों को उनकी उपज के लिए लाभकारी मूल्य सुनिश्चित किया जा सके। मसूर के लिए 500/- रुपये प्रति क्विंटल और इसके बाद सफेद सरसों व सरसों के लिए 400/- रुपये प्रति क्विंटल एमएसपी में पूर्ण रूप से उच्चतम वृद्धि को मंजूरी दी गई है। कुसुंभ के लिए  209/- रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि को मंजूरी दी गई है। गेहूं, चना और जौ के लिए क्रमशः 110 रुपये प्रति क्विंटल और 100 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि को मंजूरी दी गई है।

फसल का नामसमर्थन मूल्य 2022-23समर्थन मूल्य 2023-24MSP बढ़ा
गेहूं20152125110 रूपये
जौ16351735100 रूपये
चना52305335105 रूपये
मसूर55006000500 रूपये
सफेद सरसों और सरसों50505450400 रूपये
कुसुंभ54415650209 रूपये

Source : pib.gov.in

विपणन सीजन 2023-24 के लिए रबी फसलों के लिए एमएसपी में वृद्धि केंद्रीय बजट 2018-19 की घोषणा के अनुरूप है, जिसमें एमएसपी को अखिल भारतीय भारित औसत उत्पादन लागत के 1.5 गुना के स्तर पर तय किया गया है। जिसका लक्ष्य किसानों के लिए उचित पारिश्रमिक तय करना है। सफेद सरसों और सरसों के लिए अधिकतम रिटर्न की दर 104 प्रतिशत है, इसके बाद गेहूं के लिए 100 प्रतिशत, मसूर के लिए 85 प्रतिशत है। चने के लिए 66 प्रतिशत, जौ के लिए 60 प्रतिशत, और कुसुंभ के लिए 50 प्रतिशत है।

source By – my ration card.in

  social whatsapp circle 512WhatsApp Group Join Now
2503px Google News icon.svgGoogle News  Join Now
Spread the love