MSP समर्थन मूल्य पर धान खरीद नीति को मिली मंजूरी, जानिए कब और कितनी धान खरीदेगी सरकार

4 Min Read
खबर शेयर करें

देश में जल्द ही कई स्थानों पर धान की कटाई प्रारंभ हो जाएगी, जिसको देखते हुए राज्य सरकारों ने धान की खरीद को लेकर तैयारी शुरू कर दी है। इस वर्ष केंद्र सरकार ने कॉमन धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य MSP 2183 रुपये प्रति क्विंटल तथा ग्रेड–ए धान का समर्थन मूल्य MSP 2203 रुपये निर्धारित किया है। जो पिछले वर्ष की तुलना में 143 रुपये अधिक है। जिस पर ही इस वर्ष किसानों से धान की खरीदी की जानी है।

इस कड़ी में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने खरीफ विपणन वर्ष 2023–24 में मूल्य समर्थन योजना के अन्तर्गत धान क्रय नीति को मंजूरी दे दी है। खरीद नीति के अनुसार प्रदेश में कुछ जनपदों में धान की खरीदी 1 अक्टूबर से तो वहीं शेष जनपदों में 1 नवम्बर 2023 से शुरू होगी। वहीं इसके लिये पंजीयन शुरू भी किए जा चुके हैं।

1 अक्टूबर से शुरू होगी धान की खरीद

खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 में लखनऊ संभाग के जनपद हरदोई, लखीमपुर–खीरी, सीतापुर तथा संभाग बरेली, मुरादाबाद, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़, झाँसी में धान खरीद की अवधि 01 अक्टूबर, 2023 से 31 जनवरी, 2024 तक निर्धारित की गई है।

वहीं लखनऊ संभाग के जनपद लखनऊ, रायबरेली, उन्नाव एवं संभाग चित्रकूट, कानपुर, अयोध्या, देवीपाटन, बस्ती, गोरखपुर, आजमगढ़, वाराणसी, मिर्जापुर एवं प्रयागराज में 01 नवम्बर, 2023 से 29 फरवरी, 2024 तक धान की खरीदी की जाएगी।

4000 केंद्रों पर होगी धान की खरीद

उत्तर प्रदेश में इस वर्ष खाद्य विभाग, पी.सी.एफ., पी.सी.यू. मंडी परिषद, यू.पी.एस.एस. एवं भारतीय खाद्य निगम को मिलाकर कुल 06 क्रय एजेन्सियों के माध्यम से खरीद की जाएगी। इसके लिए सरकार ने 4000 क्रय केन्द्रों के माध्यम से 70 लाख मीट्रिक टन धान खरीदने का लक्ष्य रखा है। वहीं सभी क्रय एजेन्सियों द्वारा धान के मूल्य का भुगतान भारत सरकार के पी.एफ.एम.एस. पोर्टल के माध्यम से धान क्रय के 48 घण्टे के अन्दर किया जायेगा।

सरकार ने क्रय केन्द्र का समय प्रातः 09 बजे से सायं 05 बजे तक निर्धारित किया है। रविवार एवं राजपत्रित अवकाश को छोड़कर, शेष कार्य दिवसों में क्रय केन्द्र खुले रहेंगे। स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार जिलाधिकारी क्रय केन्द्र के खुलने व बन्द होने के समय में आवश्यक परिवर्तन कर सकेंगे। खरीद विपणन वर्ष 2023-24 धान खरीद हेतु फारमर्स प्रोड्यूसर आँर्गेनाइजेशन (एफ.पी.ओ.) एवं फारमर्स प्रोड्यूसर कम्पनी (एफ.पी.सी.) को मण्डी परिषद उत्तर प्रदेश से सम्बद्ध होकर खरीद कार्य करने की अनुमति प्रदान की गयी है।

किसानों को करवाना होगा बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण

प्रत्येक वर्ष की तरह इस वर्ष भी किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य MSP पर धान बेचने के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करवाना होगा। सरकार ने धान बेचने से पहले कृषक पंजीयन तथा समस्त क्रय एजेन्सियों पर ऑनलाइन धान क्रय की प्रक्रिया को अनिवार्य कर दिया है। इसके अलावा खरीफ विपणन वर्ष 2023-24 में इलेक्ट्रानिक प्वाइंट आँफ परचेज मशीन के माध्यम से कृषकों के बायोमैट्रिक प्रमाणीकरण द्वारा क्रय केन्द्रों पर धान क्रय की जायेगी।

धान खरीद वर्ष 2023-24 के अन्तर्गत कृषक हित को ध्यान में रखते हुए हाइब्रिड धान विक्रय हेतु कृषक का घोषणा पत्र अथवा हाइब्रिड बीज खरीद प्रमाण पत्र में से एक ही प्रपत्र लिये जाने की व्यवस्था की गयी है। कृषकों से धान खरीद कंप्यूटराइज्ड सत्यापित खतौनी तथा आधार कार्ड के आधार पर की जायेगी। रेवेन्यू रिकार्ड के माध्यम से कृषकों द्वारा बोए गए रकबे का सत्यापन किया जाएगा।

किसान यहाँ करें समर्थन मूल्य पर धान बेचने के लिए पंजीकरण

राज्य के किसान जो न्यूनतम समर्थन मूल्य MSP पर धान बेचना चाहते हैं उन्हें इसके लिये पहले ऑनलाइन पंजीकरण करवाना होगा। किसान यह पंजीयन खाद्य एवं रसद विभाग की वेबसाइट fcs.up.gov.in पर करा सकते हैं। किसान अपने आधार कार्ड संख्या की मदद से यह पंजीयन कर सकते हैं। किसानों को पंजीयन के दौरान भूमि विवरण के साथ खतौनी/खाता संख्या, प्लाट/खसरा संख्या, भूमि का रकबा (हेक्टेयर में) एवं फसल (धान/अन्य) का रकबा (हेक्टेयर में) भरना होगा। अधिक जानकारी के लिये किसान 1800-1800-150 पर कॉल कर सकते हैं।


खबर शेयर करें
Share This Article
Follow:
नमस्ते! मैं कपिल पाटीदार हूँ। सात साल से मैंने खेती बाड़ी के क्षेत्र में अपनी मेहनत और अनुभव से जगह बनाई है। मेरे लेखों के माध्यम से, मैं खेती से जुड़ी नवीनतम तकनीकों, विशेषज्ञ नुस्खों, और अनुभवों को साझा करता हूँ। मेरा लक्ष्य है किसान समुदाय को सही दिशा में ले जाना और उन्हें बेहतर उत्पादकता के रास्ते सिखाना।