मौसम अलर्ट: दो दिनों बाद फिर सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, अब यहां होंगी मूसलाधार बारिश और ओलावृष्टि

मौसम विभाग द्वारा बताया जा रहा हैं कि 23-24 मार्च को नया पश्चिमी विक्षोभ राज्य पुन: सक्रिय होने के आसार है। थंडर स्टोर्म गतिविधियां दर्ज होने की संभावना है। यानि कुछ जिलों में फिर से एक बार बारिश होने की संभावना है।

मौसम को लेकर किसानों की हमेशा चिंता बनी रहती है। क्योंकि मौसम की वजह से फसलों का विकास होता और मौसम की वजह से फसलों का नुकसान भी होता है। नागौर जिले में दो दिन बारिश हुई। अब मौसम विभाग ने बताया है कि 23 मार्च को जिले में फिर से बारिश व ओलावृष्टि होने की संभावना है। क्योंकि पश्चिमी विक्षोभ का असर अभी कम नहीं हुआ है। नागौर जिले में पिछले दो दिन बारिश हुई।

रविवार के दिन में मौसम एकदम साफ रहा, लेकिन देरशाम होते-होते मौसम ने अचानक से करवट ले ली। शाम को तेज हवा चलने के बाद जिलेभर में बारिश हुई। जिससे किसानों की फसल को नुकसान पहुंचा हैं। बारिश के बाद नागौर के तापमान में गिरावट देखने को मिली है। बारिश केबाद रात में पारा 26 डिग्री से गिरकर 18 डिग्री सेल्सियस पर आ गया। वही दिन में तापमान 30 डिग्री से 35 डिग्री के बीच रहा।

किसानों को 23-24 मार्च तक रखनी होगी सावधानी

किसान भाईयों द्वारा रबी की फसलों की कटाई शुरु कर दी गई हैं। लेकिन मौसम परिवर्तन की वजह सें किसानों को सावधानी रखनी होगीक्योंकि 23-25 मार्च तक एकबार फिर से ओलावृष्टि व बारिश की आशंका है।

जयपुर मौसम विभाग ने दी यह जानकारी

मौसम विभाग द्वारा बताया जा रहा हैं कि 23-24 मार्च को नया पश्चिमी विक्षोभ राज्य पुन: सक्रिय होने के आसार है। थंडर स्टोर्म गतिविधियां दर्ज होने की संभावना है। यानि कुछ जिलोंमें फिर से एक बार बारिश होने की संभावना है।वहीं जिले में गर्मी बढ़ने की संभावना बताई जा रही है। वहीं तापमान 35° के आसपास रह सकता है। मौसम विभाग जयपुर केन्द्र के अनुसार 21-22 मार्च को आंधी व बारिश की गतिविधियों मे कुछ कमी औरजिले के कुछ हिस्सों में हल्की बारिश हो सकती है। वही 23 मार्च से एक और नया पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा। 23 -24 मार्च को पुन: आंधी व बारिश की गतिविधियों में बढ़ोतरी होगी।