लाड़ली बहना योजना का लाभ उठाने के लिए अब आय प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं,इन दस्तावेजों से होंगा काम

Ladli Bahana Yojana: लाडली बहना योजना के जरिए सरकार एक करोड़ परिवारों तक एक हजार रुपये प्रति माह पहुंचाएगी. इस योजना को लेकर बजट में भी 8000 करोड़ रुपए की स्वीकृति हो चुकी है।

Ladli Behna Yojana 2023: मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार की लाडली बहना योजना को लेकर आवेदन 5 मार्च से भरना शुरू कर दिए जाएंगे। इसके पहले सरकार ने लाडली बीमा योजना की पात्रता को लेकर एक गाइडलाइन जारी की है। हालांकि विदिशा कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने सोशल मीडिया के माध्यम से स्पष्ट कर दिया है कि केवल आधार और समग्र आईडी से ही काम चल जाएगा। बहनों को आय और निवास प्रमाण पत्र की कोई आवश्यकता नहीं लगेगी।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की लाडली बहना योजना की घोषणा के बाद कांग्रेस भी पसोपेश में है। लाडली बहना योजना के जरिए सरकार एक करोड़ परिवारों तक एक हजार रुपये प्रति माह पहुंचाएगी। इस योजना को लेकर बजट में भी 8000 करोड़ रुपए की स्वीकृति हो चुकी है। लाडली बहना योजना को लेकर सरकार की ओर से कई शर्तें भी जारी की गई, इसमें मध्य प्रदेश का निवासी होना अति आवश्यक है।

नहीं होगी आय प्रमाण पत्र की जरूरत

इसके अलावा यह भी कहा गया है कि बहना की आय साल भर में ढाई लाख से अधिक नहीं होना चाहिए। इसके अलावा 5 एकड़ से अधिक जमीन भी नहीं होना चाहिए। दूसरी तरफ विदिशा कलेक्टर उमाशंकर भार्गव का सोशल मीडिया पर एक संदेश तेजी से वायरल हो रहा है, इसमें कलेक्टर ने यह बताया है की लाडली बहना योजना का लाभ लेने के लिए स्थानीय निवासी और आय प्रमाण पत्र की कोई आवश्यकता नहीं है। समग्र आईडी और आधार के माध्यम से ही दस्तावेजों की पूर्ति हो।

जून माह से खाते में आने लगेगी राशि

5 मार्च से लाडली बहना योजना के फार्म पूर्व मध्य प्रदेश के सभी जिलों में भराए जाएंगे। इसके बाद जून माह से खाते में राशि आना शुरू हो जाएगी। सरकार को उम्मीद है कि इस योजना के जरिए एक बार फिर बीजेपी की सत्ता में वापसी होगी। मध्य प्रदेश सरकार के पूर्व मंत्री और वरिष्ठ विधायक पारस जैन इस बात को स्पष्ट कर चुके हैं कि लाडली बहना योजना सरकार के लिए संजीवनी का काम करेगी। सरकार इस योजना के माध्यम से घर-घर में अपने पेठ जमाएगी। इस बार बीजेपी ने मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर 204 के नारा दिया है।