Kisan News: ड्रैगन फ्रूट की खेती से होगी पैसों की बारिश, 25 साल तक आएगा पैसा

Kisan News: ड्रैगन फ्रूट की अब देश में डिमांड अधिक होने लगी है। इस महत्वपूर्ण फल की खेती के लिए देश की सरकार भी किसानों को सहायता प्रदान कर रही है। ड्रैगन फ्रूट खेती को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य सरकारें सब्सिडी भी दे रही है। Dragon Fruit की खेती देश राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश जैसे कई राज्यों में हो रही है. बाजार में इसकी मांग काफी अधिक है। जिससे खेती में हाथ आजमाने वालों के लिए यह कमाई का बेहतर जरिया बन सकता है।

Kisan News: ड्रैगन फ्रूट एक प्रकार की कैक्टस बेल है. भारत में इसे कमलम के नाम से जाना जाता है। Dragon Fruit दो तरह का होता है। एक लाल गूदे वाला और दूसरा सफेद गूदे वाला, इसके फूल बहुत सुगंधित होते हैं, जो रात में ही खिलते हैं और सुबह तक झड़ जाते हैं। ड्रैगन फ्रूट (Dragon Fruit) कैंसर व लीवर के रोगों के लिए रामबाण है. इसका इस्तेमाल सलाद, मुरब्बा, जेली और शेक बनाने में किया जाता है। सेहत के लिहाज से Dragon Fruit काफी लाभकारी माना जाता है। ये शरीर में कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है, जिससे हार्ट अटैक का खतरा कम होता है।

Dragon fruit farming: ड्रैगन फ्रूट के एक फल का वजन 300 से 400 ग्राम तक होता है. एक पिलर पर 10 से 12 किलो फल आता है। इसके पौधों में रोग और कीट नहीं लगते हैं। इसलिए कीटनाशक का खर्च भी बचता है। हरियाणा सरकार ड्रैगन फ्रूट (Dragon Fruit) की खेती करने वाले किसानों को सब्सिडी देती है। क्योंकि इसके फलने-फूलने के लिए पिलर की जरूरत होती है। हरियाणा सरकार के बागवानी विभाग 70,000 रुपये प्रति एकड़ की सब्सिडी देती है। इसकी खेती में बहुत कम सिंचाई की जरूरत होती है।

dragon fruit farming: इस मार्च से जुलाई के बीच कभी भी बोया जा सकता है। पौधा लगने के बाद करीब एक साल में ड्रैगन फ्रूट का पेड़ तैयार हो जाता है और जुलाई से अक्टूबर तक फल देता है।ड्रैगन फ्रूट (Dragon Fruit) की खेती में केवल एक बार निवेश के बाद 25 वर्षों तक कमाई हो सकती है। बाजार में एक ड्रैगन फ्रूट की कीमत 80 से 100 रुपये तक है। एक एकड़ से सालाना 7 से 8 लाख रुपये तक कमाई की जा सकती है। इसलिए इसकी खेती किसानों के लिए मुनाफे का सौदा साबित हो सकती है।

source By – Zeebusinessहिन्दी

Leave a Comment