किसानो के लिए ख़ुशी की खबर खाद के नए रेट हुए जारी, खाद के नए रेट देख हो जाओगे खुश, देखे क्या है नए रेट

किसानो के लिए ख़ुशी की खबर खाद के नए रेट हुए जारी, खाद के नए रेट देख हो जाओगे खुश, देखे क्या है नए रेट। किसान शब्द एक शब्द ही नहीं है बल्कि हर देश की वह ताकत और रीढ़ की हड्डी मानी जाती है, जिससे देश के हर इंसान में हर पल नई ऊर्जा का संचार होता है। देश में किसान ही एक ऐसा इंसान होता है जो अनाज की उपज करके हर भूखे पेट को राहत और जीवनदान देती है। किसानों के लिये केन्द्र से लेकर राज्य सरकार अनेक प्रकार की लाभदायक योजनाएं चलाती हैं। जिससे किसानों को खेतीबाड़ी करने में किसी भी प्रकार की कोई भी समस्या उत्पन्न न हो. किसानों के लिए फसल की पैदावार के लिए खाद बेहद ही जरूरी है , सरकार द्वारा किसानों को खाद पर सब्सिडी भी दी जा रही है जिससे किसानों को काफी राहत मिल गई है

किसानो को खाद के लिए काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है

किसानो को खाद के लिए काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। जैसा की हम आपको बता दे की खाद के भाव में कुछ खास खाद बदलाव नहीं हुआ है। किसानों को खाद के लिए काफी ज्यादा मसक्कत करना पड़ता है। बहुत बार किसानो को सरकार द्वारा खाद प्राप्त नहीं होता है तो उसे बाहर से अधिक कीमत में खाद खरीदना पड़ता है। सरकार द्वारा खाद की कालाबाजारी पर भी एक्शन लिया जा रहा है। इफ्को का नैनो यूरिया एक बोरी के बराबर काम करता है।

किसानो को फसल की बोवनी के लिए आवश्यक है खाद

जानकारी के मुताबिक बता दें कि किसानों के लिए रबी की फसल की बोवनी का बेशकीमती समय अक्टूबर व नवम्बर का माह बहुत ही अति महत्वपूर्ण माना जाता है। किसानो की बोवनी के समय में सबसे ज्यादा खाद की जरूरी होता है। इन महीनों में किसान चना, मटर, गेहूं, सरसों अनेक प्रकार की फसल की बोवनी करते हैं। इसके लिए उन्हें सर्वप्रथम खाद, बीज की बहुत जरूरत पड़ती है। वैसे यह सभी जानते हैं कि पिछले वर्ष किसानों को खाद के लिए कितनी मशक्कत करनी पड़ी थी, खाद के लिए किसानों को लंबी-लंबी लाईनों में लगना पड़ा था, तब जाकर उन्हें खाद मिल सका था। लेकिन इस वर्ष ऐसी स्थिति नहीं आयी और खाद पर्याप्त मात्रा में किसानों को मिल सका

देखे सब्सिडी के साथ खाद के दाम

प्राप्त जानकारी अनुसार बता दें कि वर्तमान समय में किसानों को सबसे ज्यादा खाद की बहुत ही अति आवश्यकता है। ऐसे में किसानों को बता दें कि इस वर्ष खाद की किसी भी प्रकार की किल्लत नहीं हो इस का सरकार द्वारा पूरा ध्यान रखा जायेंगा। र और इस वर्ष सरकारी रेट के अनुसार खाद किसानों को सस्ता मिलेगा। डीएपी खाद की एक बोरी की कीमत अभी 1300 रूपये अंदर चल रही है। जबकि यूरिया खाद की एक बोरी का रेट 250 रूपये से ऊपर चल रहा है। यानि खाद का रेट इस वर्ष सामान्य स्थिति पर है। अगर कोई किसान बाहर से खाद लेता है तो उसे बहुत अधिक कीमत चुकानी पड़ेगी।

खबरों को शेयर करे

  social whatsapp circle 512WhatsApp Group Join Now
2503px Google News icon.svgGoogle News  Join Now
Spread the love