Kisan News: आलू और मटर की इन किस्मों की बुवाई करें, बुवाई करने के लिए वैज्ञानिकों की सलाह भी देखें » Kisan Yojana » India's No.1 Agriculture Blog

Kisan News: आलू और मटर की इन किस्मों की बुवाई करें, बुवाई करने के लिए वैज्ञानिकों की सलाह भी देखें

5/5 - (1 vote)
Picsart 22 11 09 07 23 38 551
आलू और मटर की खेती करने का सही तरीका

Kisan News: रबी फसल की सीजन में कई सारे किसान लोग हरी सब्जियां उगाना भी पसंद करते हैं। इनमें कई प्रकार की सब्जियां शामिल है। वर्तमान मौसम में किसान गेहूं, चना, सरसों, आलू, मटर, लहसून, गाजर, पालक, शलगम, बथुआ, गाँठ गोभी आदि फसलों की विभिन्न किस्मों की बुआई का काम कर सकते हैं। आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको आलू और मटर की बुवाई करने का सही तरीका और इनकी सर्वश्रेष्ठ किस्में बताएंगे। इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए लेख को अंत तक अवश्य पढ़ें।

Kisan News: आलू और मटर की इन किस्मों की बुवाई करें, हवाई करने के लिए वैज्ञानिकों की सलाह भी देखें

आलू की सर्वश्रेष्ठ किस्में और खेती करने का तरीका

• किसानों के लिए वर्तमान का मौसम आलू की बुवाई करने के लिए काफी अनुकूल है। ‌ वर्तमान मे‌ सभी किसान आवश्यकतानुसार आलू की बुवाई कर सकते हैं।
• आलू की उन्नत किस्में- कुफरी बादशाह, कुफरी ज्योति (कम अवधि वाली किस्म), कुफरी अलंकार, कुफरी चंद्रमुखी।
• आलू बुवाई के लिए एक शानदार तरीका यह भी रहेगा कि कतारों से कतारों तथा पौध से पौध की दूरी 45 X 20 या 60 X 15 से.मी. रखी जाएं।
• आलू की बुवाई से पूर्व बीजों को कार्बंडिजम 0 ग्रा. प्रति लीटर घोल में प्रति कि.ग्रा. बीज पाँच मिनट भिगोकर रखें।
• इसके बाद बुवाई से पहले आलू को किसी छायादार जगह पर सूखने के लिए रख दें।
• कुछ समय बाद आलू की बुवाई कर सकते हैं।

यह भी पढ़िए:- मप्र सरकार ने किसानों के लिए खाद के नए भाव किए जारी, देखें कीमतों की सूची

मटर की सर्वश्रेष्ठ किस्में और खेती करने का तरीका

• किसान मटर की बुवाई करने में अत्यधिक समय बर्बाद नहीं करें बल्कि जितना जल्दी हो सके मटर की बुवाई कर सकते हैं।
• समय पर उगाए गए मटर पर कीड़ों का प्रकोप नहीं होगा और उपज में कमी भी नहीं आएगी।
• मटर की बुवाई करने से पहले मिट्टी में उचित नमी का ध्यान अवश्य रखना है।
• मटर की सर्वश्रेष्ठ किस्मों में पूसा प्रगति और आर्किल शामिल है।
• बीजों को कवकनाशी केप्टान या थायरम 2.0 ग्रा. प्रति कि.ग्रा. बीज की दर से मिलाकर उपचार करें उसके बाद फसल विशेष राईजोबियम का टीका अवश्य लगायें।
• गुड़ को पानी में उबालकर ठंडा कर ले और राईजोबियम को बीज के साथ मिलाकर उपचारित करके सूखने के लिए किसी छायेदार स्थान में रख दें तथा अगले दिन बुवाई करें।

यह भी देखिए:- सरसों की यह शानदार किस्म 100 दिन में तैयार होकर देगी बंपर पैदावार, देखें किस्म का नाम

इसी प्रकार किसानों से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी और रोजाना प्रदेश की सभी मंडियों के भाव जानने के लिए हमारे साथ बने रहे।

Follow Google News:- यहां क्लिक करें।

आज के मंदसौर मंडी भाव ( Mandsaur Mandi bhav today )

 
social whatsapp circle 512WhatsApp Group
Join Now
2503px Google News icon.svgGoogle News  Join Now
Spread the love