किसान करे एक एकड़ में लगाएं ये पांच पेड़, कुछ ही साल में बना देंगे करोड़ो के मालिक जानिए पेड़ों के बारे में और लगाने का आसान तरीका » Kisan Yojana » India's No.1 Agriculture Blog

किसान करे एक एकड़ में लगाएं ये पांच पेड़, कुछ ही साल में बना देंगे करोड़ो के मालिक जानिए पेड़ों के बारे में और लगाने का आसान तरीका

Rate this post

kisan news : एक एकड़ में लगाएं ये पांच पेड़, कुछ ही साल में बना देंगे करोड़ो के मालिक जानिए पेड़ों के बारे में और लगाने का आसान तरीका, शशि सिंह ने करीब 10 बीघे जमीन में सफेद चंदन के पेड़ लगाए थे. इसके साथ उन्होंने शुरुआत में तीन-चार साल तक छोटे-छोटे अन्य पौधे लगाकर उससे भी काफी कमाई की. अगर आप अपने खेत में चंदन के पेड़ लगाते हैं तो इससे आपको काफी कमाई हो सकती है. आइये जानते है इसके बारे में पूरी जानकारी।देश में पारंपरिक खेती कर गेहूं, धान, चावल, चना, उड़द आदि उगाने की जगह अब किसान नकदी फसलों या उन फसलों को प्राथमिकता दे रहे हैं जिसकी देखभाल कम करनी पड़े और जिस से कमाई अधिक हो.

इन 5 पेड़ो को लगाकर 15-20 साल में कमा सकते है करोड़ो रुपये

chandan ka ped

अगर आप भी खेती का कोई ऐसा ही तरीका ढूंढ रहे हैं तो आज हम आपको उन पांच पेड़ों के बारे में जानकारी दे रहे हैं जिसे आप अपने खेत में लगाकर 15-20 साल की अवधि में करोड़ों रुपए की कमाई कर सकते हैं.दिलचस्प तथ्य यह है कि इन पेड़ों की शुरुआत में एक 2 साल तक देखभाल करने के अलावा आपको ज्यादा मेहनत करने की भी आवश्यकता नहीं होती. यह पेड़ ना सिर्फ लकड़ी के लिहाज से महंगे बिकते हैं, बल्कि इनमें से कई पेड़ों की फल, पत्तियां, खाल और जड़ आदि भी बहुत महंगे बिकते हैं

उत्तर प्रदेश के फतेहपुर में रहने वाले किसान शशि सिंह परंपरागत खेती में काफी परेशानी महसूस कर रहे थे. करीब 65 बीघे खेत में उन्हें बीज, कीटनाशक और खाद आदि की लागत काफी आती थी और मौसम की मार की वजह से कई बार उन्हें नुकसान उठाना पड़ता था.इसके बाद एक बार उन्हें एक कृषि मेले में इन पेड़ों के बारे में जानकारी मिली. यूपी के फतेहपुर के किसान शशि सिंह ने 2007 में अपने पूरे खेत में यह पेड़ लगाकर छोड़ दिए. इसके बाद अब उनके यह पेड़ किसान शशि सिंह पर धनवर्षा रहे हैं.शशि सिंह ने करीब 10 बीघे जमीन में सफेद चंदन के पेड़ लगाए थे. इसके साथ उन्होंने शुरुआत में तीन-चार साल तक छोटे-छोटे अन्य पौधे लगाकर उससे भी काफी कमाई की. अगर आप अपने खेत में चंदन के पेड़ लगाते हैं तो इससे आपको काफी कमाई हो सकती है.

चंदन का पेड़

05 10 2021 sandwood 22084424

चंदन की लकड़ी बाजार में ₹30000 प्रति किलो के हिसाब से बिकती है, इससे इत्र भी बनाया जाता है. इसके साथ ही कई उत्पादों में चंदन का फ्लेवर डाला जाता है. चंदन की बेहतरीन मांग को देखते हुए किसानों के लिए इसे उगाना लाभ का सौदा साबित हो सकता है. 15 साल की अवधि के बाद चंदन के एक पेड़ से करीब 50 किलो तक लकड़ी प्राप्त की जा सकती है.

सागवान का पेड़

sagwan aajtak

शशि सिंह ने अपने 15 बीघा खेत में सागवान के पेड़ लगाए थे. उन्होंने मानसून सीजन में सागवान का पेड़ लगाकर पहले साल उसकी अच्छे से देखभाल की और समय-समय पर सागवान के डाल की छंटाई करते रहे जिससे पेड़ की ऊंचाई बढ़ाने में मदद मिले.
सिंह ने कहा कि 1 एकड़ में सागवान का पेड़ लगाकर एक करोड़ की कमाई की जा सकती है.सागवान बाजार में बिकने वाली सबसे महंगी लकड़ी में से एक है. इससे फर्नीचर और प्लाई तैयार किया जाता है. सागवान की लकड़ी टिकाऊ होती है और इसकी खेती में जोखिम बहुत कम है और मुनाफा बहुत अच्छा है.भारत की आबादी 130 करोड़ को पार कर गई है और बहुत से लोग गांव छोड़कर शहरों में अपना घर बना रहे हैं. इस वजह से घर की जरूरत के हिसाब से लकड़ी के लिए की मांग काफी तेजी से बढ़ रही है. सागवान की लकड़ी के बाद गम्हार दूसरा पेड़ है जिसे खेमर के नाम से भी जाना जाता है. देश के कई इलाके में इसे गम्हार, कुम्हारी और सीवन भी कहते हैं. यह पेड़ भारत में यूपी, एमपी, राजस्थान और महाराष्ट्र में पाया जाता है.

गम्हार के पेड़

Gmelina arborea Tree Farming

शशि सिंह ने इमारती लकड़ी के रूप में बेचने के लिए अपने खेत के आठ बीघे में गम्हार के पेड़ लगाए थे. इसकी लकड़ी से खिलौने, कृषि उपकरण और फर्नीचर आदि तैयार किए जाते हैं जबकि इसकी पत्तियों का उपयोग दवाई बनाने में किया जाता है. गम्हार का पेड़ अल्सर जैसी समस्या से राहत दिलाने में काफी उपयोगी साबित हो सकता है. गम्हार का पेड़ बहुत तेजी से बढ़ता है. मध्यम वर्षा वाले क्षेत्र में इसे खेत की मेड़, उबड़ खाबड़ जमीन पर भी लगाया जा सकता है.

like to read – Kisan News: गेहूं की फसल में पत्तियां पीली पड़ने की बीमारी, देखिए इसका कारण और समाधान

सफेदे के पेड़

safeda9889899889

अगर आप फल की खेती करते हैं तो साथ में गम्हार के पेड़ लगाने से भूमि में नाइट्रोजन और फास्फोरस की मात्रा बढ़ जाती है. शशि सिंह ने कहा कि 1 एकड़ में गम्हार का पेड़ लगाकर भी 20 साल में 500 पौधे से एक करोड़ रुपए की कमाई की जा सकती है.
बाजार में सफेदे के पेड़ की काफी मांग है.

इसकी कीमत भी आज बाजार में अच्छी मिलती है. सफेदे को कई जगह यूकेलिप्टस भी कहा जाता है. इसकी खेती में कम पानी की आवश्यकता होती है और विपरीत मौसम का भी असर नहीं पड़ता. सफ़ेदे का पेड़ तेजी से बढ़ता है और इसकी लकड़ी से फर्नीचर, कागज की लुगदी बनाई जाती है.सफ़ेदे का 8 से 10 साल में एक पेड़ तैयार हो जाता है. किसान इससे 10 से 12 लाख रुपए की आसानी से कमाई कर सकते हैं. 1 एकड़ में सफ़ेदे की खेती से 15-20 साल में एक करोड़ रुपए कमा सकते हैं. सफ़ेदे की लकड़ी ₹10 किलो के आसपास दिखती है.

सोर्स by – Graminmedia

like to read – Kisan news: नहीं देखी होगी ऐसी खेती! किसान ने एक ही खेत में उगाए 32 तरह के फल

  social whatsapp circle 512WhatsApp Group Join Now
2503px Google News icon.svgGoogle News  Join Now
Spread the love